SIP क्या है और यह कैसे Work करता है? (SIP kya hai our kaise kam karta hai)

SIP क्या है और यह कैसे Work करता है? (SIP kya hai our kaise kam karta hai)

SIP (सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) का मतलब है कि आपको हर महीने के एक निश्चित दिन पर अपने पसंदीदा फंड में एक निश्चित राशि जमा करनी होती है। यह आमतौर पर इक्विटी फंड में शुरू किया जाता है।

SIP क्या है और यह कैसे Work करता है?
SIP क्या है और यह कैसे Work करता है?

हमने यह वाक्य कई बार सुना होगा, “छोटी-छोटी बूंदों से सागर बनता है”, वास्तव में इस अवधारणा का प्रयोग SIP में किया जाता है।

यह बिल्कुल भी जरूरी नहीं है कि अगर हमारे पास पानी की बड़ी मात्रा है तो बड़ी रकम का निवेश करना होगा, आप बहुत कम रकम से एसआईपी शुरू कर सकते हैं।

हम कितनी राशि से SIP (सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) शुरू कर सकते हैं।

दरअसल, अगर आप आज SIP में निवेश करना चाहते हैं तो आप हर महीने 500 से 1000 रुपये तक की शुरुआत कर सकते हैं। यह आप पर निर्भर करता है कि आप कितने पैसे से SIP शुरू करना चाहते हैं। यह आप पर निर्भर करता है कि आपकी औसत कमाई कितनी है और आप कितने समय के लिए निवेश करना चाहते हैं।

एसआईपी कैसे काम करता है

SIP (सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) में आपको अपनी पसंद की कंपनी के फंड में एक निश्चित रकम निवेश करनी होती है। उसके लिए आपको यूनिट दी जाती है। उदाहरण के लिए, यदि किसी फंड का NAV 10 रुपये है और आप इसमें 1000 रुपये का निवेश करते हैं, तो आपको उस महीने के 10 रुपये के एनएवी के 100 Units मिलेंगे। जब आप राशि निकालना चाहते हैं, तो आपको आपकी राशि मिल जाएगी। उस समय चल रही इकाइयों की कीमत के अनुसार। अगर उस फंड का NAV अब 11 रुपये हो गया है तो आपको उसके हिसाब से 1100 रुपये मिलेंगे।

SIP (सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) में हम क्या कर सकते हैं?

हम शेयर मार्केट, म्यूचुअल फंड और गोल्ड ईटीएफ में भी एसआईपी कर सकते हैं। जिन लोगों को शेयर बाजार की ज्यादा समझ नहीं है और यह नहीं जानते कि बाजार कैसे काम करता है, उनके लिए SIP (सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) के जरिए निवेश करना उनके पैसे को निवेश करने का एक शानदार तरीका है।

SIP (सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) कहां है और किस माध्यम से?

SIP (सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) में आप घर बैठे ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं। आधार केवाईसी के जरिए आप किसी भी भरोसेमंद ऐप पर अपना खाता खोल सकते हैं और अपना निवेश शुरू कर सकते हैं। Paytm Money, Kuvera, Groww जैसे कई एप्लिकेशन हैं जहां आप केवाईसी के माध्यम से पंजीकरण कर सकते हैं और वह भी कुछ ही मिनटों में। आज कल बहुत से Apps इस्तमाल होते है जिनमे से कुछ का Link मैं निचे दे रहा हु. आप किसी एक ऐप पर SIP शुरू कर सकते हैं।

  1.  पेटीएम मनी / Paytm Money
  2.  कुवेरा ऐप / Kuvera App
  3.  ग्रो ऐप / Groww App

SIP (सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) करने के क्या फायदे हैं?

1. कंपाऊडीग का लाभ:

कंपाउंडिंग यानी ब्याज पर ब्याज मिलना। SIP (सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) में आपकी जो भी राशि होती है, उस पर आपको जो ब्याज मिलता है, उसे वापस निवेश कर दिया जाता है। जिससे निवेशक का मुनाफा बढ़ता है और आपका मुनाफा बढ़ता रहता है।

2. टॅक्स मे छुट:

अगर आप एसआईपी (सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) में निवेश करते हैं तो आपको मिलने वाली रकम पर लगने वाले टैक्स से छुटकारा मिल जाता है। लेकिन टैक्स छूट स्कीम फंड में 3 साल या 10 साल जैसी लॉक इन अवधि होती है।

3. छोटी रकम से शुरुआत:

ऐसा नहीं है कि आपको SIP शुरू करने के लिए बड़ी रकम की जरूरत है, आप 500 रुपये से 1000 रुपये तक निवेश शुरू कर सकते हैं।

4. जोखिम ना के बराबर::

अगर आप 1 लाख रुपए का शेयर खरीदते हैं तो आपको पता नहीं चलेगा कि अगले दिन शेयर नीचे जाएगा या ऊपर, इसमें बहुत जोखिम है। अगर आप इस रकम को एसआईपी में डालते हैं तो 50000 हजार 10 महीने में 5000 की किश्तों में निवेश करते हैं तो यहां आपको शेयर बाजार की तरह जोखिम नहीं दिखेगा। हम एसआईपी में एक बार में पूरी रकम का निवेश नहीं करते हैं, इसलिए जोखिम नगण्य रहता है।

5. निवेश में आसानी:

एसआईपी (सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) में क्या होता है कि आपका खाता एसआईपी स्कीम फंड से जुड़ा होता है, हर महीने आप 1000 रुपये का एसआईपी करते हैं, फिर स्वचालित रूप से वही राशि आपके खाते से एसआईपी खाते में स्थानांतरित हो जाती है। अगर किसी महीने में आप उस महीने की रकम नहीं चुकाते हैं तो आप उस महीने की SIP स्किप भी कर सकते हैं।

6. राशी निकालने में आसानी:

ज्यादातर एसआईपी योजनाओं में कोई लॉक इन अवधि नहीं होती है, हम अपने खाते में कभी भी अपना पैसा निकाल सकते हैं।

अगर आपने अभी तक SIP शुरू नहीं किया है तो आज ही घर बैठे KYC के जरिए किसी भी एक जगह पर रजिस्ट्रेशन कराएं और अपना निवेश शुरू करें।

अगर आपको हमारी पोस्ट अच्छी लगी हो या आप हमें कोई सुझाव देना चाहते हैं तो हमें जरूर लिखें।

निष्कर्ष / Conclusion:

पहले लोग ज्यादातर अपना पैसा बैंकों में सावधि जमा में रखते थे या किसी संपत्ति या सोने में निवेश करते थे ताकि उन्हें कुछ रिटर्न मिल सके लेकिन अब अगर म्यूचुअल फंड और शेयर बाजार का रिटर्न देखें तो यह बहुत कम है और अगर आप निवेश करते हैं म्यूचुअल फंड में अगर आप सालों तक पैसा रखते हैं तो आपको काफी अच्छा रिटर्न मिलता रहता है और कंपाउंडिंग की वजह से रिटर्न समय के साथ बढ़ता रहता है। तो इस समय म्यूचुअल फंड में बैंकों की एफडी से आपको अच्छा रिटर्न देखने को मिलता है इसलिए इस समय निवेश करने का यह सबसे अच्छा तरीका है।

FAQ

प्रश्न: कौन सा एसआईपी अच्छा रहेगा?
उत्तर: लार्ज कॅप, स्माॅल कॅप, डेट फंड, असेट फंड जैसे हजारों फंड उपलब्ध हैं, आप अपनी जोखिम उठाने की क्षमता के अनुसार कोई भी फंड चुन सकते हैं।

Q: किस प्लेटफॉर्म पर SIP करना होता है?
ANS: Groww, Kuvera, Paytm, Zerodha, Upstack ऐसे कई प्लेटफॉर्म हैं जहां से आप SIP शुरू कर सकते हैं।

प्रश्न: क्या मैं शेयर बाजार में घूंट पी सकता हूं?
उत्तर: हां, आप किसी भी शेयर में या निफ्टी, सीड, ईटीएफ में भी एसआईपी कर सकते हैं।

प्रश्न: क्या म्युचुअल फंड में एसआईपी जोखिम भरा है?
ANS: नहीं, वास्तव में यह भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (SEBI) के अंतर्गत आता है, यह एक बैंक की तरह है।

प्रश्न: आप कितने पैसे से एसआईपी शुरू कर सकते हैं?
ANS: आप चाहें तो 100 या 500 रुपये महीने में भी SIP शुरू कर सकते हैं.

ये भी पढ़े

शेयर बाजार में रोजाना 1000 रुपये कैसे कमाएं?

Mutual Fund vs Stock market: कौन सा सही है?

Sensex और Nifty में क्या अंतर है?

कहां Investment करें Hindi मे

Share Market से आप कितना कमा सकते हैं?

BITCOIN में INVEST कैसे करें?

Leave a Comment